दाँत निकलना

दाँत निकलने के लक्षण पहचानिये और दर्द से राहत पाने के लिए सुझाव जानिए

दांत निकलने का समय आप और आपके बच्चे के लिए एक रोमांचक समय है, भले ही इसके कारण कुछ रातों की नींद हराम हो सकती है! लगभग छह महीने की उम्र में, बच्चो के दूध के दांत उनके मसूड़ों से उभरने लगते है और इसी उम्रसे दूध के दांत विकसित होने लगते है। दांत निकलने शुरू हो जाओ! जैसे दांत निकलने सुरु होते है शुरूआती मुसीबतें भी शुरु होती है। आपका बच्चा जो भी खाता है उसे साफ और किटानुरहित बनाने की आवश्यकता है ताकि उसे हानिकारक कीटाणुओं से बचाया जा सके।

आपके बच्चे के दांत निकलने के शुरुआती लक्षणों में यह शामिल हैं:

  • दांत के आसपास सूजन या लाल मसुडें
  • लाल गाल
  • वे लार बहाते है, कुतरते है और चबाते है
  • वे चिड़चिडे दिखाई देते हैं और उन्हें बुखार हो सकता है

दांत निकलने के चरण क्या है?

आमतौर पर बच्चों के 30 महीने के भीतर सभी दूध के दांत आ जाते है। लेकिन सबसे पहले कौनसा दांत आता है?

  • नीचेके सामने वाले कृन्तक दांत - लगभग पांच से सात महीने में आते है
  • ऊपर के सामने वाले कृन्तक दांत - छह से आठ महीने में आते है
  • ऊपर के पिछले कृन्तक दांत उपर के सामने वाले दोनों भागो की तरफ होते है - नौ 11 महीने में आते है
  • नीचे के पिछले भाग वाले कृन्तक दांत जो नीचे के सामने के दांतों के दोनों तरफ होते है - 10-12 महीने में
  • दाढ़ (पीछे के दांत) - 12-16 महीनों में
  • कुक्कुरीय (मुँह के पीछे की ओर) दांत - 16-20 महीनों में आते है
  • दूसरी दाढ़ - 20-30 महीनों में आती है

दांत निकलने के परेशानी से छुटकारा पाने के लिए युक्तियाँ

अपके बच्चे कुछ दांत जादुई रूप से दिखाई देंगे। कुछ दांतों को आने में लंबा समय लगेगा और दांत आते समय बच्चे को दर्द या बेचैनी भी हो सकती है। दांत निकलने के दौरान बच्चों के हाथ जो भी लग जाता है उसे वे जुगल करने लगते हैं। इसलिए अच्छा स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है।इसलिए अपके बच्चे के मुँह में जाने वाले किसी भी चीज को साफ किया जाना चाहिए और उसे जिवानुरहित होना चाहिए ताकि हानिकारक कीटाणुओं को पेट में जाने से रोका जाए।

आपके बच्चे के चहरे पर मुस्कान लाने के और भी तरीके है

  • अपने बच्चे को जुगल करने के लिए दांत निकलते समय उपयोग लाने वाली रिंग दें। अपने बच्चे के मसूड़ों को दर्द कम करने के लिए कुछ रिंग को फ्रिज में ठंडा किया जा सकता है। जिस प्रकार आप दूध बोतलें और निपल साफ और जिवानुराहित रखते है उसी प्रकार हमेशा साफ और जिवानुराहित रखें।
  • उनके मसूड़ों पर चीनी मुक्त जेल रगड़ो।
  • उन्हें जुगल करने के लिए कुछ फल या सब्जियां दें।
  • उन्हें एक शीतल चीनी मुक्त पेय, विशेषतः पानी दें।
  • इस उम्र में, बच्चे को अपने मुंह में हाथ डाल ने की आदत होती है, इसलिए आप नियमित रूप से उपयुक्त साबुन से अपने बच्चे के हाथ धोते रहें।

हम अपने बच्चे को दर्द निवारक देने या दांत निकलने के वक्त लगाने वाले जेल देने के पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श लें।

अपने बच्चे के पहले दांत निकलते समय कैसे ध्यान देना चाहिए?

उनके दांत की दिन में से दो बार सफाई करें ताकि अपने बच्चे के दांतों और मसूड़ों को स्वस्थ रखा जा सके। ऐसे:

  • हमेशा अपने बच्चे के दांत साफ करने से पहले अपने हाथ धो लें।
  • अपनी गोद में अपने बच्चे बैठते हैं और धीरे से हाथ से ठोड़ी को को सहलाएं
  • एक छोटा सा नरम टूथब्रश या अपनी उंगली के चारों ओर लिपटा हुआ गच्छ के साफ टुकड़े का प्रयोग करें।
  • बच्चे के चीनी मुक्त टूथपेस्ट(फ्लोराइड) के धब्बे का प्रयोग करें और धीरे से ब्रश या रगड़ें।
  • दांत के सभी सतहों छोटे गोलाकार में हलके से ब्रश घुमाएँ और अपने बच्चे को बाद में टूथपेस्ट थूकने दें। पानी के साथ कुल्ला करने से फ्लोराइड के लाभ कम पाए गए है।

अपने बच्चे की देखभाल के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें। यहाँ दिए गए टिप्स स्वच्छता दिनचर्या से संबंधित केवल सामान्य प्रकार के हैं।