Breadcrumbs

बचै को हाथ धोना सीखना

बच्चों को अपने हाथ स्वच्छ रखने और खुद को स्वस्थ बनाए रखने लिए सीखने में मदद करना

बचै को हाथ धोना सीखना

बचै को हाथ धोना सीखना

हाथ धोना एक सरल काम है पर यह एक ऐसा कारगर तरीका है जिससे आप अपने बच्चे को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। हाथ धोने की स्वस्थ आदतों को बचपन में सिखाना न केवल हमारे बच्चों के लिए मददगार होता है, बल्कि इससे कीटाणुओं के फैलने और रोगों से बचाव कर आपका पूरा परिवार भी स्वस्थ बना रहता है।

वे मूल्यवान हाथ रोजाना कीटाणुओं के संपर्क में आते रहते हैं। वे दुनिया के बारे में नई-नई चीजें सीख रहे होते हैं, पर उनपर इकट्ठा हुए कीटाणु आपके बच्चे को या परिवार के अन्य सदस्यों को बीमार बना सकते हैं। सौभाग्य से नियमित रूप से हाथ धोने से ये कीटाणु दूर रहते हैं और इसलिए आपको उनकी मौज-मस्ती को सीमित करने की जरूरत नहीं होती, जिससे वे स्वस्थ्य बने रहते हैं।

बच्चों को सिखाते समय, खासकर छोटे बच्चों को हाथ धोने के बारे में सिखाते समय, यह जरूरी है कि यह मजेदार हो और जब वे इसे सीख लें तो उन्हें पुरस्कार दिया जाए। 

हर कोई यह जानना चाहता है कि उसने अच्छा काम किया है, और बच्चे भी इसमें पीछे नहीं हैं।  उनकी जम कर तारीफ करें और उन्हें प्रोत्साहन दें, पहले-पहल थोड़ा अटपटा लग सकता है, पर स्वस्थ रहने की इस सरल किंतु शक्तिशाली आदत को अपनाने में उन्हें करने के लिए यह एक कमाल का तरीका हो सकता है।  वे हर बार अपने हाथ धोएं इसपर निगरानी रखने के लिए एक स्टिकर चार्ट का इस्तेमाल करें, जब उन्हें कई सारे रिवार्ड स्टिकर्स मिल जाएं तो उन्हें इसे आगे भी जारी रखने के लिए आप कुछ ख़ास तोहफा भी दे सकते हैं।

ये नन्हीं आंखें काफी तेज होती है और जब आप हाथ नहीं धोएंगे वे झट से इसे पकड़ लेंगी, इसलिए अपना उदाहरण पेश करें और जब भी जरूरत हो अपने हाथ जरूर धोएं।  यदि आप हर वक्त साथ हैं, उन्हें इसका कारण बताएं और अपना हाथ धोना उन्हें दिखाएं। आप जानते हैं बच्चे अक्सर आपके कहे और किए की नकल करते हैं, इसलिए हाथ धोने के अपने बेहतरीन उदाहरण को उन्हें अपनाने में मदद करें।

पहले-पहल आपको थोड़ा सावधान रहना पड़ेगा, पर वाकई शुरुआती उम्र में इस आदत को अपने बच्चों में डालने से न केवल वे बल्कि आपका पूरा परिवार भी स्वस्थ रह सकेगा। 

यदि आप अपने हाथ स्वस्थ रखना चाहते हैं और बीमारी पैदा करने वाले कीटाणुओं से दूर रहना चाहते हैं, तो झटपट हाथ रगड़ने के बजाय अच्छी तरह हाथ धोएं। यहां आपके बच्चे के हाथ धोने के लिए गाइड दिया गया है।

आपके बच्चे को हाथ धोने की जरूरत कब पड़ती है

वे तीन वक्त जब उन्हें हाथ धोना चाहिए;

  • किसी भोजन को खाने से
  • हमेशा शौचालय जाने के बाद या पॉटी का इस्तेमाल करने के बाद। 
  • किसी खाने की तैयारी में शामिल किए जाने से पहले।

भले ही आपका बच्चा शेफ नहीं बनना चाहता हो, पर यदि आप दोनों रसोई में एक साथ हैं और आप खाना बनाने जा रही हैं, तो उसे दिखाएं कि आप हाथ धो रही हैं।

स्वाभाविक रूप से यदि वे कीटाणुओं के संपर्क में आते हैं, और यदि वे किसी धारदार और नुकीली चीजों को छूते हैं अथवा वे बाहर खेलते हैं, तो उनमें हाथ धोने की आदत डालना हमेशा एक अच्छी बात होती है, क्योंकि वे नन्हीं उंगलियां हर उस चीज को छू सकती हैं, जिन्हें आप नहीं चाहते हैं कि वे छुएं।

हाथ धोने के चरण: स्वस्थ हाथ के 9 चरण

क्या आप अपने हाथ अच्छी तरह से धोना जानते हैं, उन्हें अच्छी तरह से साफ करने के लिए लगभग 40 सेकंड तक धोना होगा।  अपने बच्चे को सिखाएं कि अच्छी तरह से हाथ धोने के लिए उचित समय तक हाथ धोना चाहिए।  इसे मजेदार बनाइए, इस समय आप हैपी बर्थडे सॉन्ग गा सकते हैं, जिसके लिए एक अच्छे काम की जरूरत होती है, आप इसे ऊंची आवाज में साथ मिलकर भी गा सकते हैं।  हाथ धोते समय आप अपने हाथों की आकृति बनाकर उन्हें उसकी नकल करने को कहें।  आप अपने बच्चे से कह सकते हैं कि वे आपको सही तरह से हाथ धोकर दिखाएं।  थोड़ी-बहुत टोकने की जरूरत पड़ सकती है, पर आप हैरान रह जाएंगे कि वे कितनी जल्दी आपको हाथ धोन के लिए टोकना शुरु कर देते हैं।

हैपी हैंड वाशिंग 

  1. हाथों को साफ गुनगुने बहते पानी से गीला
  2. थोड़ी मात्रा में साबुल लगाएं
  3. अपनी हथेलियों को आपस में रगड़ें (पानी से
  4. अंगुलियों और अंगूठों और उनके बीच के हिस्से को रगड़ें
  5. अपनी हथेलियों के नाखूनों को रगड़ें
  6. हरेक हाथ के पिछ्ले हिस्से को भी रगड़े
  7. हाथों को साफ बहते पानी से धोएं
  8. हाथों को एक स्वच्छ तौलिए या पेपर टॉवल से सुखा लें
  9. इसे सही तरह से करने के लिए आप अपने बच्चे की तारीफ करें याद रखें "किसी काम की सराहना करने से वह काम फिर से दुहराया जाता है।”

हो सकता है कि कभी आपकी योजना सफल न हो और आपके सर्वोत्तम प्रयास भी बेकार चले जाएं, याद रखें कि आप अपने बच्चे को जीवन का एक अहम हुनर सिखा रहे हैं, जो उसे बाकी जीवन स्वस्थ रहने में मदद करेगा।  

दुःखद बात है कि हर वर्ष लाखों लोग, जिनमें अधिकतर बच्चे व अन्य कमजोर समूह के लोग होते हैं, ऐसी बीमारियों की वजह से मौत के शिकार हो जाते हैं, जिनसे केवल हाथ धोने की आदत को अपनाकर बचा जा सकता था, इसलिए अपने बच्चे में स्वस्थ आदत डालें, आप जितनी कल्पना कर सकते हैं, इससे कहीं अधिक बड़ा अंतर देखने को मिल सकता है।

अपने शिशु की देखभाल के लिए कृपया अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यहां दिए गए सुझाव सामान्य स्वच्छता से जुड़े केवल आम तरह के सुझाव हैं।