Importance of Hand Hygiene | Dettol
Breadcrumbs

हाथ स्वच्छता का महत्व

हम मनुष्यों को स्वाभाविक रूप से यह सुनना पसंद नहीं कि क्या करें क्या न करें। हमारी जीवनशैली और आदतों में खलल डालना, नई आदतें बनाना खासतौर पर जब वो हममें यंत्रस्थ हैं, कितना असुविधाजनक लगता है। लेकिन कुछ चीज़ें हमारी आंखें खोल देती हैं। और जितनी ढीलीं आदतें हो सकती हैं, इन्हें सही करना ज़रूरी है, चाहे आपके जीवन की कोई भी उम्र या समय हो। ऐसा एक निश्चित संशोधन हाथ स्वच्छता का है। सरल तौर पर कहें तो, हाथों की सफाई सबसे ज़रूरी है - खासतौर पर खुद बीमार पड़ने और दूसरों पर कीटाणु फैलाने से बचने के लिए।

आपको यह जानकार अचंभा होगा कि ख़राब हाथ स्वच्छता के कारण कितनी बीमारियां फैलती हैं। यह अनुमानित है कि हाथ साफ़ रखने से डायरिया से होने वाली मौतों को 50% तक कम किया जा सकता है। और सिर्फ डायरिया संक्रमण ही नहीं, आप काफी हद तक एक साधारण हाथ धोने से श्वास संबंधित संक्रमण को रोक सकते हैं; आप कितनी अच्छी तरह हाथ धोते हैं, इस पर काफी कुछ निर्भर है-छोटे से छोटे जीवाणुओं को नष्ट करने के लिए सही तरीका।

ऐसे कौनसे उदहारण हैं, जब अपने हाथ धोना ज़रूरी है?

 a) खाने के पहले और बाद के साथ-साथ खाने की तैयारी के दौरान।

 b) जब आप स्थानों की यात्रा कर रहे हैं।

 c) बीमार व्यक्ति से मिलने से पहले और बाद में।

 d) कुछ भी खाने से पहले।

 e) सार्वजानिक वस्तुओं को छूने के बाद; एटीएम, फिंगरप्रिंट स्कैनर, लिफ्ट बटन, स्विच।

 f) जानवर को प्यार करने के बाद

 g) डायपर बदलने के बाद

 h) शौचालय इस्तेमाल करने के बाद

इन क्या न करें के बारे में जागरुक होने के बावजूद हम अक्सर इन पर ध्यान नहीं देते, जब तक कि हम जानलेवा खाद्य जनित बीमारी की चपेट में नहीं आ जाते और सिर्फ कोर्स सुधार उपाय बचते हैं। इसलिए अपने हाथ सही तरह से धोना महत्वपूर्ण है।

अपने हाथ सही तरह से कैसे धोएं?

a) अपने हाथों को साफ़ ठंडे/गर्म पानी से गीला करें। बहते नल को बंद करें और साबुन लगाएं।

b) झाग को हाथ के दोनों तरफ हथेली एवं पीछे के साथ-साथ नाखूनों में भी रगड़ें।

c) 15 सेकंड तक रगड़ना सुनिश्चित करें। कम से कम 15 सेकंड।

d) उन्हें साफ़ पानी से धोएं।

e) उन्हें तौलिए या हवा में सुखाएं।

हालांकि हर जगह सफाई का साबुन और पानी वाला तरीका थोड़ा बहुत कठिन या अव्यावहारिक है। इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि खासकर जब आप घर के बाहर हों, अल्कोहल-आधारित हैंड सैनेटाइज़र का इस्तेमाल करें, जैसे कि डेटॉल हैंड सैनेटाइज़र या डेटॉल वेट वाइप्स। यह वास्तव में अच्छे से कार्य करता है। अत: डॉक्टर द्वारा हमें बार-बार हाथ धोने की सलाह देना बिल्कुल भी अनुचित नहीं है। यह आदत सही मायनों में जीवन बचा सकती है।