Breadcrumbs

घर से बाहर हाथों की स्वच्छता का महत्व

घर से बाहर हाथों की स्वच्छता का महत्व

घर से बाहर हाथों की स्वच्छता का महत्व

आदतें हमारे द्वारा बचपन के शुरुआती दिनों में सीखीं और आत्मसात की जाती हैं। और जितना उपद्रवी हर बच्चा होता है - बड़ों की अच्छी सलाह को नकारने की हमारी लालसा - खासतौर पर स्वस्थ रहन-सहन के तरीकों के बारे में - उसे सुनने और समझने से कहीं ज्यादा होती है। हमारी स्वच्छता की समझ भी कोई अपवाद नहीं। शुरुआत करने के लिए हाथों की स्वच्छता ही लेते हैं।


स्वच्छता की ख़राब समझ के परिणाम हमारी जानकारी से भी अधिक होते हैं, शायद हमारे आसपास के कीटाणुओं और बीमारियों के प्रवेश बिंदु के तौर पर हमारे हाथ कितने तरह से काम करते हैं, उसके बारे में हमारी खराब समझ के कारण।
वास्तव में यदि आप यह सोच रहे थे कि कीटाणु कहां छुपते हैं, तो आप यह जानकार हैरान रह जाएंगे कि कैसे वह हर तरफ हैं, एटीएम से लेकर एलेविटर के बटन, स्विच, और वाटर कूलर में भी।
ज़रूरत है कि कोई लोगों के सचेत करे, इसलिए हम यहां 4 कारण दे रहे हैं कि क्यों आप हाथ स्वच्छता को हल्के में नहीं ले सकते, खासकर जब आप घर से बाहर हैं।

a) हाथ कीटाणुओं के सबसे बड़े वाहक हैं

आपकी त्वचा के प्रत्येक वर्ग सेंटीमीटर में, लगभग 500 बैक्टीरिया होते हैं। हाथ कीटाणुओं के प्रति शरीर का सबसे ज्यादा एक्सपोज्ड भाग है; साथ ही आप अपनी आंख, मुंह, नाक और जो कुछ भी खाते हैं उसे इनसे छूते हैं, जिससे आपके हाथ आपके शरीर में कीटाणुओं के स्थानांतरण के सबसे जोखिम भरे माध्यम बन जाते हैं। इसलिए शुरुआत में ही इसे रोकना ठीक है।

b) कीटाणुओं के फैलाव का तरीका आपको चौंका सकता है

हम सभी जानते हैं कि कीटाणु सर्दी, आंख मसलने, खांसने, छींकने से हाथों में फैल सकते हैं। लेकिन कीटाणु पकाने वाले से खाने में भी फैल सकते हैं। कीटाणु कच्ची खाद्य सामग्री जैसे कि मुर्गा एवं मछली, बिना पकी सामग्री जैसे सलाद के माध्यम से भी फैल सकते हैं। जानवरों को प्यार करने से आपकी उम्मीद से ज्यादा कीटाणु फैल सकते हैं।

c) एंटीबायोटिक प्रतिरोध

क्या आप जानते थे कि बैक्टीरियल बीमारी की स्थिति में, जब आप एंटीबायोटिक दवाओं की एक खुराक लेते हैं, तो संवेदनशील बैक्टीरिया खत्म किए जा सकते हैं, लेकिन प्रतिरोधी बैक्टीरिया फैलने और अपनी संख्या बढ़ाने के लिए छूट सकते हैं। अपना एंटीबायोटिक कोर्स खत्म न करना या उनका बार-बार इस्तेमाल करना भी कुछ बैक्टीरिया के एंटीबायोटिक के प्रतिरोधी विकसित करने का कारण बन सकता है।

 d) बीमारियां जिनसे आप नियमित हाथ धोने से बच सकते हैं

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, हाथ कीटाणुओं के सबसे बड़े प्रवेश बिंदु हैं। वे काफी हद तक एक DIV वैक्सीन हैं, जिसे आप दे सकते हैं। यह सच है; नियमित हाथ धोना जीवन बचा सकता है - खासतौर पर डायरिया और श्वास संबंधी बीमारियों से।

डॉक्टर द्वारा की जाने वाली वनस्पति युक्त हाथ धोने की सलाह, जिस पर आमतौर ध्यान नहीं दिया जाता, बहुमूल्य है। एक तरफ जहां बार-बार हाथ धोना आवश्यक है, यह समझना भी महत्वपूर्ण है कि आपको अपने हाथ कैसे धोने चाहिए। साबुन और पानी का तरीका हमेशा संभव नहीं होगा, खासतौर पर यदि आप घूम रहे हों। ऐसे स्थिति में, अल्कोहल-आधारित हैंड सैनेटाइज़र और डेटॉल वेट वाइप्स, वास्तव में काम में आ सकते हैं।