मानसून में स्वच्छता , स्वास्थ्य और स्वच्छता - डेटॉल

मानसून में स्वच्छता

मानसून, स्थिर पानी, मच्छरों और रोग के साथ कई संभव स्वास्थ्य चुनौतियाँ ला सकता है। डेटॉल गाइड से बीमारी से बचने के बेहतर तरीके जानें।

मानसून में स्वच्छता

मानसून में स्वच्छता

मानसून या बरसात के मौसम आपके स्वास्थ्य के लिए विशेष चुनौतियों की पेशकश कर सकते हैं, तो हम कुछ सुझाव दे रहे हैं जो आपको इस मौसम के दौरान स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं।

मानसून क्या है?

मानसून / बरसात का मौसम, मौसम के मिजाज में एक ऋतु-संबंधी बदलाव है, जो समुद्र से भूमि पर गर्म, नम हवा लाकर, एक निरंतर अवधि के लिए वर्षा की उच्च अवधि बनाता है। गर्मियों के मानसून/ बरसात के मौसम आम तौर पर बड़े पैमाने पर मूसलाधार बारिश के साथ मई और जून में आते हैं। घोर गर्जना और आँधी बरसात के मौसम/ ग्रीष्मकालीन मानसून के आगमन को चिह्नित करते हैं।

कैसे मानसून स्वास्थ्य को प्रभावित करता है?

मानसून/ बरसात के मौसम द्वारा उत्पन्न की गईं स्वास्थ्य चुनौतियाँ आम तौर पर मौजूद स्थिर पानी के प्रभाव से जुड़ी होती हैं, जो मच्छरों के लिए प्रजनन आसान कर देता है और मलेरिया तथा डेंगू बुखार फैलने की सम्भावा को बढ़ावा देता है।

वातावरण में स्थिर मौजूद पानी की वृद्धि की वजह से विषाक्त भोजन और पेट-संबंधी बीमारियों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है, साथ ही इस मौसम में खांसी, जुकाम और फ्लू में भी वृद्धि हुई है।

अन्य मुद्दों में फंगल इन्फेक्शन और एथलिट्स फूट, और, यदि आप अस्थमा से पीड़ित हैं, तो पर्यावरण में अतिरिक्त पानी और गर्म हवा से नमी बढ़ सकती है और दीवारों पर फंगस का विकास हो सकता है जिससे हालत और बिगड़ सकती है।

मैं कैसे मानसून के दौरान स्वस्थ रह सकता हूँ?

मच्छरों को दूर रखें:

  • मच्छर से बचाने वाली क्रीम का बहुत प्रयोग करें, और कई बार दुबारा लगायें।
  • मच्छरों को अपने वातावरण से बाहर रखने के लिए कॉयल / उपकरणों का प्रयोग करें।
  • वातावरण को साफ रखें और सुनिश्चित करें कि आसपास कोई स्थिर पानी नहीं है।
  • यह सुनिश्चित करने के लिए की मच्छर प्रजनन न करें स्थिर पानी वाले स्थानों में जैसे कि रूम कूलर आदि स्थानों में मिट्टी के तेल की कुछ बूँदें डालें।
  • अप्रयुक्त कंटेनर, कूलर, फूलदान, आदि को पलट कर रखें ताकि स्थिर पानी को जमा न होने दें और वे मच्छरों के प्रजनन के एक उपयुक्त जगह न बनें।

भोजन और पेय पदार्थों के साथ अतिरिक्त ध्यान रखना:

  • अच्छी तरह से पका हुआ भोजन खायें: कच्चे खाद्य पदार्थों और सलाद से बचना लाभप्रद हो सकता है, जब तक कि आप गारंटी न ले सकें कि किसी भी हानिकारक बैक्टीरिया को मारने के लिए उन्हें बहते पानी से या एक सैनीटाईजिंग सलूशन से धोया गया है।
  • इस समय के दौरान स्ट्रीट फूड से बचें, क्योंकि वहां हानिकारक बैक्टीरिया होने की अधिक से अधिक क्षमता है।
  • खुद को अच्छी तरह से स्वच्छ और सुरक्षित पीने के पानी के साथ हाइड्रेटेड रखें, क्यूँकि इस मौसम के दौरान डिहाइड्रेशन की संभावना है।

खुद को साफ और शुष्क रखें:

  • भीगे हालातों में सूखा रखने के लिए एक छाता और उपयुक्त कपड़े लेकर चलें।
  • कीचड़ में चलने या अपने पैरों को गीला होने देने से बचें। ये पैर और पैर के नाखूनों में फंगल संक्रमण पैदा कर सकता है।
  • खुद को सूखा रखें और गंदे, स्थिर पानी के छींटों से बचें क्यूंकि इनमें हानिकारक जीवाणु होते हैं।
  • अच्छे हाथ स्वच्छता का अभ्यास करें, शौचालय का उपयोग करने के बाद और खाना खाने से पहले और बाद में साबुन से अच्छी तरह हाथ साफ करना न भूलें। यह हर दिन महत्वपूर्ण है, यह मानसून के दौरान वायरस और बैक्टीरिया के प्रसार से निपटने के लिए विशेष रूप से उपयोगी है।
  • नियमित रूप से धोयें, और अगर आप भीग जाते हैं, तो साबुन के साथ अपने आप को साफ करें और स्वयम को एक साफ और सूखी तौलिया के साथ अच्छी तरह से सुखा लें, पैर की उंगलियों और शरीर पर किसी भी क्रीज के बीच में पोंछते हुए। टैल्कम पाउडर का उपयोग करना सुनिश्चित करता है कि आप पूरी तरह से सूखे है और किसी भी फंगल इन्फेक्शन के विकास के संक्रमण को रोक सकते हैं।
  • डेटॉल सोप और बॉडी बैक्टीरिया को मारने में मदद कर सकते हैं। जब पानी में स्नान कर रहे हों, तो आप पानी में किसी भी हानिकारक बैक्टीरिया को मारने के लिए नहाने के पानी के लिए डेटॉल एंटीसेप्टिक लिक्विड मिला सकते हैं। यह विशेष रूप से उपयोगी है यदि जमा किये पानी में स्नान कर रहे हों। हमेशा निर्देश अनुसार उपयोग करें।

अपने घर को साफ और स्वच्छ रखें:

  • नम दीवारों के साथ संपर्क से बचें, क्योंकि ये मोल्ड्स और अन्य फंगस के लिए एक प्रजनन भूमि हो सकते हैं।
  • अधिक नियमित रूप से अपने घर में सतहों को कीटाणुरहित करें, डेटॉल हाइजीन लिक्विड के साथ। हमेशा निर्देश अनुसार उपयोग करें। उन क्षेत्रों में विशेष ध्यान रखें जो भोजन के साथ और नम क्षेत्रों के साथ भी संपर्क में में आते हैं जैसेकि बाथरूम जहाँ हवा में अधिक नमी मोल्ड और फफूंदी को जन्म दे सकती है।