क्या आपकी रसोई वाकई साफ है? - डेटॉल
Breadcrumbs

क्या आपकी रसोई वाकई साफ है?

क्या आपकी रसोई वाकई साफ है?

क्या आपकी रसोई वाकई साफ है?

दाग-धब्बे रहित ताजे धुले हुए फर्श को देखकर धोखे में न रहें। रसोई घर बैक्टीरियल गतिविधियों का मुख्य स्थान होता है जो कई प्रकार की बीमारियां पैदा करता है।

रसोई घर का एक अहम स्थान होता है। यह ऐसा स्थान होता है जहां परिवार के लिए भोजन तैयार किया जाता है और साथ ही कच्चे और पके हुए भोजन को भंडारित किया जाता है (फ्रिज, कबर्ड), धोया जाता (सिंक) है और फेंका जाता है (बिंस)। इन्हीं कार्यों के कारण रसोई घर में कीटाणुओं और जीवाणुओं की सबसे अधिक संख्या पनपती है।

सामान्य स्वच्छता और समग्र स्वास्थ्य के लिए रसोई को हर दिन साफ करना जरूरी हो जाता है। भले ही आप अपने पैक्ड क्रॉकरी और अतिरिक्त प्लेट्स को सुरक्षित रूप से अलग हटा सकते हैं, पर आप रोजमर्रा के इस्तेमाल वाली सतहों- जैसे कि फर्श, काउंटर, स्टोव टॉप तथा सिंक को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। इनकी सफाई की जानी चाहिए और एक कीटाणु रहित रसोई घर के लिए हर दिन इसे पोंछा जाना चाहिए।

पर केवल रसोई की सफाई से ही काम नहीं चलेगा- आपको साथ-साथ नियमित जरूरी हाइजीन को भी अपना होगा।

यहां कुछ किचन स्वच्छता के सुझाव दिए जा रहे हैं, जिन्हें आप अपना सकते हैं:

अपने हाथों को साफ रखना। हाथ कीटाणुओं और बैक्टीरिया के वाहक होते हैं और उनके संपर्क में आने वाले भोजन संदूषित हो सकते हैं। अपने किचन सिंक के समीप डेटॉल एंटीबैक्टीरियल हैंड वॉश की एक बोतल रखें और कच्चे या पके हुए भोजन के आयटम को छूने से पहले पहले अपने हाथ धो लें। साथ ही, भोजन को चखने के लिए कभी अपनी अंगुलियों से उसे न छूएं - बल्कि इसके लिए चम्मच का इस्तेमाल करें। रसोई से बाहर निकलते समय भी अपने हाथ धो लें।

कच्ची सब्जियों, फलों तथा मांस को धोना। सब्जियां, फल, पोल्ट्री, अंडे और मांस जबतक खेतों से बाहर आकर आप तक पहुंचते हैं, तबतक ये कई गुना धूल-कणों, गंदगियों और प्रदूषण के संपर्क में आ चुके होते हैं। अपने भोजन के कच्चे पदार्थों को बहते पानी से अच्छी तरह से धोएं और ऐसी सब्जियों को, जैसे कि पालक, गोभी तथा ब्रोक्कोली को काटने से पहले 30 मिनट तक नमक-पानी में रखें। नमकीन पानी में घनी सब्जियों के नन्हें कीड़े और लार्वा मर जाते हैं। धुले हुए पानी को पूरी तरह से बहा दें, खाद्य पदार्थ को पकाने से पहले उन्हें ताजे पाने से धोएं। मांस को धोते वक्त सावधानी रखें- सही तरह से न धोने पर साल्मोनेला तथा ई.कोलाई का विष पैदा होता है।

सभी छ्लकावाओं को तुरंत पोंछ दें। किचन काउंटर्स और फर्श पर कई प्रकार के खाद्य पदार्थ रखे जाते हैं और हमेशा तरल पदार्थ गिरते रहते हैं। कटी हुई सब्जियों के टुकड़े, गिरा हुआ आटा, काउंटर पर गिरे मसाले और नमक, पानी व तेल की बूंदें...आपकी किचन को ये सभी झेलने होते हैं। भले ही किचन में छलकाव आम बात है, पर उन्हें सूखने और सड़ने के लिए छोड़ देना सेहतमंद आदत नहीं है। किचन में गिरे सभी तरल पदार्थों को सूखने और मक्खियां आकर्षित करने से पहले उन्हें साफ कर देने का ध्यान रखें। साफ पानी और किचन वाइप से पोंछें। रात के वक्त काउंटर और स्टोव टॉप को एंटीबैक्टीरियल क्लीनर जैसे कि डेटॉल मल्टी-यूज हाईजीन लिक्विड से पोंछें।

फर्श को डिसइंफेक्टेंट लिक्विड से पोंछें। बेस्ट किचन हाईजीन टिप्स? अपनी किचन को हर दिन पानी में डिसइंफेक्टेंट लिक्विड मिलाकर पोंछें। प्रायः दिन के समय फर्श की अनदेखी कर दी जाती है, पर्यह वह स्थान होता है जहां ज्यादातर बैक्टीरिया और कीटाणु पनपते हैं। सभी कणों और गंदगी को पहले झाड़ू से बुहार लें और तब डिसइंफेक्टेंट से अच्छी तरह से पोंछा लगा दें।

सिंक को साफ रखें। दिन के अंत में अपने किचन सिंक में थोड़ा डिसइंफेक्टेंट क्लीनिंग लिक्विड डालें और इसे रगड़ कर साफ कर लें। साथ ही नलों और सिंक के किनारों को एंटीबैक्टीरियल क्लीनिंग घोल से पोंछें। महीने में एक बार, ड्रेन पाइप को खोलकर उसमें मौजूद फंसे भोजन और कचरे को साफ कर दें।