खाद्य सुरक्षा और स्वच्छता - डेटॉल
Breadcrumbs

खाद्य सुरक्षा और स्वच्छता

चार नियम: खाद्य और किचन स्वच्छता

खाद्य सुरक्षा और स्वच्छता

खाद्य सुरक्षा और स्वच्छता

अधिकांश लोगों को लगता है कि जब हम बीमारी और डायरिया से पीड़ित होते हैं तो इसका कारण घर के बाहर से लिया गया विषाक्त भोजन है। वास्तव में, सबसे विषाक्त भोजन वास्तव में घर में होता है और किचन की खराब स्वच्छता का सीधा परिणाम है। इसमें कच्चे खाद्य पदार्थ (मांस, अंडा, अंडे, मछली और समुद्री भोजन, कच्चे फल और सब्जियों सहित) से रोगाणुओं का किचन के सतहों पर या खाना पकाते वक्त अन्य भोजन में हो रहा स्थानांतरण, या भोजन पर्याप्त तरीके से नहीं पकाया जाना शामिल है।

खाद्य सुरक्षा के इन चार नियमों का पालन करते हुए घर में विषाक्त भोजन से बचें: क्रॉस-कंटामिनेशन या भोजन का अनजाने में दूषित होना, सफाई, पाक कला और चिलिंग यानी ठंडा करना।

खाद्य स्वच्छता के चार नियम:

क्रॉस-कंटामिनेशन या भोजन का अनजाने में दूषित होना

भोजन के विषाक्त होने के सबसे बड़े कारणों में से एक क्रॉस-कंटामिनेशन या भोजन का अनजाने में दूषित होना है। आम तौर पर एक व्यक्ति के हाथ या किचन के बर्तन से - यह जब भोजन पर मौजूद हानिकारक रोगाणु गलती से अन्य खाद्य पदार्थों पर चले जाते हैं। लेकिन इन स्वास्थ्य जोखिमों को आसानी से रोका जा सकता है:

भोजन को छूने से पहले और कच्चे खाद्य (जैसे मांस, अंडे) और डिब्‍बों की हैंडलिंग के तुरंत बाद, पालतू पशुओं को छूने, या शौचालय में जाने के बाद साबुन और साफ पानी से अपने हाथ धो लें। डेटॉल नो टच हैंड सोप क्रॉस-कंटामिनेशन को रोकने का एक शानदार तरीका है। बस अपने हाथ आगे बढ़ाएं और रोगाणुरोधी साबुन स्वचालित रूप से बाहर आ जाता है।

  • खाना बनाने के तुरंत बाद सभी सतहों को साफ और रोगाणुरहित करें।
  • आदर्श रूप में, कच्चे और खाने के लिए तैयार खाद्य पदार्थों के लिए अलग-अलग रंग कोड वाले चॉपिंग बोर्डों का उपयोग करें।
  • रोगाणुओं को रोकने के लिए खाद्य पदार्थ को ढकें या उनको सीलबंद कंटेनरों में रखें|
  • कच्चे खाद्य को पकाये जा चुके और खाने के लिए तैयार खाद्य पदार्थों से दूर रखें।
  • किसी भी पालतू जानवर या जानवरों के भोजन तैयार करने और खाने क्षेत्रों से दूर रखें।

सफाई

  • हानिकारक रोगाणुओं को दूर करने और उन्हें भोजन में फैलने से रोकने के लिए सही समय पर सही तरीके से चीजों को संक्रमणरहित करें।
  • सुनिश्चित करें कि सभी बर्तन और उपकरण उपयोग करने से पहले बेदाग और साफ हों।
  • अक्सर लोगों के स्पर्श में आने वाली चीजों को नियमित रूप से साफ करें और रोगाणुरहित बनाएं जैसे नल / हौदी, अलमारी के हत्‍थे और स्विच।
  • खाना बनाने के तुरंत बाद भोजन तैयार की वाली सभी सतहों को डेटॉल हाइजिन लिक्‍विड या वाइप्‍स से साफ करें।
  • संभव हो तो कागज के तौलिए या डिस्पोजेबल कपड़ों का उपयोग करें और यदि आप कपड़ें फिर से इस्‍तेमाल करते हों तो उन्हें प्रत्येक कार्य के बीच साफ करें (और उस दौरान कहीं भी उसी कपड़े का उपयोग नहीं करें)।

खाना बनाना

भोजन में विषाक्तता पैदा करने वाले हानिकारक रोगाणुओं को मारने के लिए मांस को अच्छी तरह से पकाएं। यह देखने के लिएकि आपका मांस पक गया है, मोटे भाग में चाकू घुसाएं - उसमें गुलाबी मांस के कोई संकेत नहीं मिलना चाहिए और कोई भी रस स्पष्ट बहना चाहिए। जब भोजन को फिर से गर्म करें तो यह सुनिश्‍चित कर लें कि यह पुरी तरह से गर्म हो गया है, और भोजन को कभी एक बार से अधिक गरम नहीं करें।

ठंडा करना

खाद्य पदार्थों को ठंडा रखना (0-5 डिग्री सेल्सियस, 32-41 ° फारेहाइट) या जमाना हानिकारक जीवाणुओं के विकास को धीमा कर देता है। हमेशा अपने भोजन की पैकेजिंग पर दिए गए भंडारण निर्देश और ' उपयोग' की अंतिम तारीख की जांच करें। यदि आपके पास भोजन बचा हो तो उसे खाना पकाने के दो घंटे के भीतर फ्रिज या फ्रीजर में रख दें। सुनिश्‍चित करें कि रखने से पहले वह पूरी तरह से ठंडा हो चुका है। यदि आवश्यक हो तो कूलिंग में तेजी लाने के लिए उन्हें छोटे कंटेनरों में रखें।