स्कूल प्रोग्राम |डेटोल के साथ स्वास्थ्य शुरू करो - डेटॉल

स्कूल प्रोग्राम

स्कूल के बच्चों को स्वस्थ आदतें और सही तरह से हाथ धोने की तकनीक की शिक्षा देना।स्कूल प्रोग्राम

सभी बच्चों को अपने हाथों को गंदा करना अच्छा लगता है। जब आप आसपास हैं, तो आप उन पर एक सुरक्षात्मक नजर रख सकते हैं और सुनिश्चित कर सकते हैं कि उन्होंने शौचालय का उपयोग करने के बाद या खाना खाने से पहले अपने हाथ स्वच्छ कर लिए हैं। लेकिन जब वे स्कूल में हैं, तब? आप कैसे जानेंगे कि जो अच्छी आदतें आप स्थापित कर रहे हैं, उनका पालन किया जा रहा है?

विद्यालय में सबसे अधिक जीवाणु प्रेषित की सम्भावना होतें हैं. कोई एक विद्यार्थी जो इस जीवाणु की शिकार हैं, सभी बच्चों को संक्रमित कर सकता हैं.

दुर्भाग्य से हिन्दुस्थान में सालाना १ लाख से अधिक बचें स्वच्छता ना मानने की वजह से दस्त जैसे बीमारी से मर जातें हैं. उचित तरीकों से अपनें हाथ धोना हाथों की स्वच्छता को पालन करने से इन दुखत घटनाओ को बड़ी आसानी से टाला जा सकता हैं.

डेटोल कई सारे कार्यक्रम से सारी दुनिया के बच्चों को स्वच्छता को पालन करना सिखाती हैं. इन कार्यक्रम को मज़ेदार बनाने के लिए काफी पैसे भी खर्चे जातें हैं

  • 2013 साल में डेटोल 63 लख बच्चों को स्वच्छता की पालन करना सिखाया हैं. इस काम को अंजाम देने के लिए अलग से सिखशक लाये गए और बच्चों को स्वच्छता का पालन हेतु उचित तरिके से हाथ धोना सीखना और उसकी पालन करनें पर इनाम भी दिए गयें
  • 2013 साल में डेटोल 50 शहरो मे 3000 विद्यालय के अन्तर्गत 1.1 लख बच्चों को हाथों की स्वच्छता की बारे शिक्षित करने मे सफल रहे. इसके उपरांत बच्चों को डेटोल एल हेच डबलयू के नमूना भी दिए गयें.

स्वाभाव में परिवर्तन स्वाभाविक हैं और हम डेटोल में स्वच्छता की शिक्षा को महत्तपूर्ण माना जाता हैं. इससे एक जीवाणु मुक्त वातावरण मिलती हैं और घर के बच्चों को बीमारी से आज़ादी मिलती हैं